अच्छे संस्कार ही बच्चों की तय करते हैं दिशा!

ByShailesh Krishna Singh

Dec 24, 2022

अच्छे संस्कार ही बच्चों की तय करते हैं दिशा!

 

आज वृंदावन बरनवाल सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में आयोजित मातृ सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में रहना हुआ! विशिष्ट अतिथि श्रीमती सुमन तिवारी जी रही,इस कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीमती मीना पांडे जी ने किया,व मातृ सम्मेलन कार्यक्रम का संचालन श्रीमती अंशु सिन्हा जी ने किया! कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना के साथ हुआ!

कार्यक्रम में सभी अध्यापक,अध्यापिका व सभी मातृ शक्तियां उपस्थित रही।

जिसमें सभी नन्हे-मुन्ने बच्चों ने अपनी प्रस्तुति दी।

सम्मेलन में बड़ी संख्या में महिलाओं ने प्रतिभाग कर विद्यालय में संचालित होने वाली शिक्षणेत्तर और शैक्षणिक गतिविधियों के संबंध में अपने सुझाव दिए।

मां बच्चे की पहली पाठशाला होती है लिहाजा बच्चे के प्रति मां का फर्ज सबसे अधिक हो जाता है, प्रत्येक मां को अपने बच्चे के भविष्य के प्रति सजग रहना होगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Have no product in the cart!
0