यूपी बोर्ड के कॉपियों पर पहली बार होगा बारकोड का प्रयोग नहीं कर पाएंगे नक़ल..

ByAMIT Kumar pandey

Dec 8, 2022

यूपी बोर्ड 10वीं-12वीं की साढ़े तीन करोड़ कॉपियों में पहली बार होगा बारकोड का प्रयोग नहीं कर पाएंगे नक़ल!

यूपी बोर्ड 10वीं-12वीं की साढ़े तीन करोड़ कॉपियों में पहली बार होगा बारकोड का प्रयोग नहीं कर पाएंगे नक़ल!
यूपी बोर्ड 10वीं-12वीं की साढ़े तीन करोड़ कॉपियों में पहली बार होगा बारकोड का प्रयोग नहीं कर पाएंगे नक़ल!

यूपी बोर्ड आंसर शीट पर लगाएगा Barcode, नकल करने वालों पर लगेगी लगाम

लखनऊ : अगर आप भी यूपी बोर्ड परीक्षा 2023 की तैयारी कर रहे हैं तो ये खबर आपके लिए है. जहां अब नकलची छात्र भी पढ़ाई करने पर मजबूर हो जाएंगे. ऐसा इसलिए क्योंकि साल 2023 में होने वाली यूपी बोर्ड 10वीं (हाईस्कूल) और 12वीं (इंटरमीडिएट) परीक्षा को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने कमर कस ली है. यूपी सरकार ने अब कॉपियों में बारकोड लगाने का ऐलान किया है. ये बारकोड नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए लगाए जाएंगे.नकल विहीन परीक्षा

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सचिव दिव्य कांत शुक्ल ने इस बार की जानकारी दी है. उनके अनुसार नकल माफिया से बचने के लिए यूपी बोर्ड ने इस बार सुरक्षा के कई इंतजाम किए हैं. अब कॉपियों में बारकोड और परीक्षा के बाद रैंडम चेकिंग को भी परीक्षाओं में जोड़ा गया है. साढ़े तीन करोड़ से ज्यादा कॉपियों में पहली बार बारकोड लगाया जाएगा. बता दें, इस समय जिलों में परीक्षा केंद्रों का निर्धारण शुरू हो गया है. अधिकारियों की मानें तो यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं, 12वीं की परीक्षाओं के लिए कुल 58,67,329 छात्रों ने पंजीकरण करवाया है. 2022 की तुलना में 6.74 लाख अधिक छात्र आने वाले साल में यूपी बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होंगे. इन छात्रों में से कक्षा 10वीं के 31,16,458 और कक्षा 12 के 27,50,871 हैं.

ये होंगे कड़े इंतजाम

गौरतलब है कि मार्च-अप्रैल में यूपी बोर्ड 2022 की परीक्षाएं आयोजित की गई थीं. यूपी बोर्ड ने परीक्षा के दौरान नकल रोकने के लिए कई कड़े इंतजाम किए थे. ये इंतज़ाम इस प्रकार हैं-

-सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ एक्शन लेना.
– CCTV कैमरों का इंतजाम.
– सॉफ्टवेयर के माध्यम से परीक्षा केंद्रों पर कक्ष निरीक्षकों और कर्मियों की तैनाती.
– STF की संवेदनशील जिलों में पैनी नजर.
-पर्याप्त सुरक्षा बल की हर परीक्षा केंद्रों पर तैनाती.
– जिलानुसार अधिकारियों की निगरानी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Have no product in the cart!
0